मैदान से क्वीन एलिजाबेथ का किस्सा, क्रिकेटर को ऑटोग्राफ नहीं दे पाई तो अपनी फोटो ही भेज दी थी

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर डेनिस लिली ने एक बार क्वीन एलिजाबेथ से ऑटोग्राफ मांगा था, लेकिन रॉयल प्रोटोकॉल के चलते एलिजाबेथ उनकी ये ख्वाहिश पूरी नहीं कर पाईं। बाद में एलिजाबेथ ने अपनी साइन की हुई फोटो डेनिस लिली को भेजी थी। ये किस्सा आज इसलिए क्योंकि ब्रिटेन पर 70 साल तक राज करने वाली यह लेडी अब इस दुनिया में नहीं हैं। 96 साल की महान जिंदगी जीने के बाद स्कॉटलैंड में एलिजाबेथ अपनी आखिरी सांस ले चुकीं हैं। एलिजाबेथ की शख्सित के जादू में मंत्रमुग्ध होकर एकबार महान डेनिस लिली ने उनसे ऑटोग्राफ मांग लिया था।

ये कहानी है 1977 की, जब ऐतिहासिक टेस्ट से पहले मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में तेज गेंदबाज लिली, एलिजाबेथ से मिले। एलिथाबेज से मिलते हुए डेनिस लिली ने प्रोटोकॉल तोड़ दिया। राजपरिवार की महिला से ऑटोग्राफ मांग लिया। हाथ में पेन और एक आइटम भी था। लिली ने कहा, वह मुझे मैदान में सभी लोगों के सामने और टेलीविजन पर ऑटोग्राफ नहीं दे सकती थी क्योंकि नियम उन्हें इसकी इजाजत नहीं देते थे।

डेनिस लिली ने अपनी बायोग्राफी में भी इसका जिक्र किया है। वह कहते हैं हफ्ते भर के बात तो मैं इस घटना को भूल ही चुका था। तभी पैलेस से कोई आदमी मुझ तक पहुंचा क्योंकि क्वीन एलिजाबेथ मुझे एक तोहफा देने चाहतीं थीं। एलिजाबेथ ने ऑटोग्राफ के बदले अपनी तस्वीर पर सिग्नेचर कर डेनिस लिलि को दिया था। हालांकि दोनों इसके बाद सिर्फ एक ही बार और मिल पाए। 1981 में इंग्लैंड में किसी टेस्ट मैच के दौरान दोनों की दूसरी और आखिरी मुलाकात हुई।

महारानी एलिजाबेथ यूके, कनाडा, जमैका, भारत और लिली के ऑस्ट्रेलिया सहित 14 अन्य देशों की प्रमुख थीं। शाही परिवार अंतिम संस्कार के लिए आधिकारिक कार्यक्रम को जल्द जारी करेगा। गुरुवार को उनके निधन के 10 दिन बाद उनका अंतिम संस्कार किए जाने की उम्मीद है। प्रधानमंत्री ट्रस के नए राजा से मिलने के बाद राष्ट्रीय शोक की घोषणा की जाएगी। किंग चार्ल्स तृतीय राष्ट्र को संबोधित करेंगे। लंदन में सेंट पॉल कैथेड्रल में प्रधानमंत्री और मंत्रियों के लिए एक कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा।
पोते प्रिंस विलियम और हैरी को मनाने की दादी एलिजाबेथ ने की लाखों कोशिश पर अधूरी रह गई ख्‍वाहिशअंग्रेजों ने उजाड़ दिया था ‘सोने की चिड़िया’ का घोंसला, 200 साल में लूटे 45 ट्रिलियन डॉलर, भारत ने लिया ‘बदला’

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.