kohli told rohit that i was comfortable with the freedom you gave to remain natural

दुबई: विराट कोहली ने अफगानिस्तान के खिलाफ एशिया कप मुकाबले में शतकीय पारी खेली। 2019 के बाद से विराट के बल्ले से शतक नहीं निकला था। । इसके बाद भारत के वर्तमान और पूर्व कप्तान के बीच बीसीसीआई डॉट टीवी पर आपस में बातचीत हुई। इसमें विराट कोहली ने रोहित शर्मा का आभार भी व्यक्त किया। कोहली ने अपना इंटरव्यू ले रहे रोहित से कहा,‘हमें सुपर चार के इन मैचों (पाकिस्तान और श्रीलंका के खिलाफ) से सबक लेना होगा, कहां हमने गलती की। टीम प्रबंधन की तरफ से स्पष्ट संवाद था। आपने मुझे जो स्वाभाविक बने रहने की छूट दी उससे मैंने सहज महसूस किया। इसलिए विश्राम से वापसी करने के बाद मैं टीम में अपने योगदान को लेकर काफी उत्साहित था।’

कोहली ने अपने कप्तान से कहा कि उन्हें अहसास हुआ कि उन्हें उसी तरह का खेल खेलना चाहिए जैसा वह खेलते रहे हैं। इसमें छक्का जड़ना उनकी प्राथमिकता नहीं है। उन्होंने कहा,‘मेरे पास क्रिकेट के कुछ अच्छे शॉट है और छक्का लगाना मेरा मजबूत पक्ष नहीं है। परिस्थिति के अनुसार मैं छक्का जड़ सकता हूं लेकिन मैं खाली स्थानों पर शॉट मारने में बेहतर हूं। मैं जितने अधिक चौके लगाऊंगा उससे भी उद्देश्य की पूर्ति होती है।’

कोहली ने यहां तक कि मुख्य कोच राहुल द्रविड़ और बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ से भी इस संबंध में बात की थी। उन्होंने कहा,‘मैंने कोच से कहा कि मैं बड़े शॉट खेलने के बजाय खाली स्थानों पर शॉट मारकर रन बनाना चाहूंगा। क्रिकेट में ऐसा नहीं है कि स्ट्राइक रेट बनाए रखने के लिए आपको लंबे शॉट ही खेलने हैं। मैंने स्वीकार किया कि यह मेरा मजबूत पक्ष नहीं है और मैं अपने मूल स्वरूप में लौट आया।’

कोहली ने कहा,‘टीम में मेरी भूमिका परिस्थिति के अनुसार जिम्मेदारी संभालना है और रन बनाने की दर को भी बेहतर रखना है। अगर मुझे क्रीज पर पांव जमाने के लिए 10-15 गेंद मिल जाती हैं तो फिर मैं तेजी से स्कोर बना सकता हूं। मैं अपने मूल स्वरूप से भटक रहा था और उन चीजों को करने का प्रयास कर रहा था जो मेरे खेल के मजबूत पक्ष नहीं हैं।’

कोहली के लिए एशिया कप अपनी बल्लेबाजी में नए आयाम जोड़ने से संबंधित रहा, जिसमें सातवें से 15वें ओवर के बीच उनका रवैया भी शामिल है। इसको लेकर द्रविड़ से भी उन्हें बहुत अच्छी सलाह मिली। उन्होंने कहा,‘राहुल भाई ने बीच के ओवरों में बल्लेबाजी को लेकर मुझसे बात की कि मैं पहले बल्लेबाजी करने पर कैसे अपने स्ट्राइक रेट में सुधार कर सकता हूं। हमारा लक्ष्य था कि टीम को फायदा पहुंचाने के लिए मुझे सुधार करना होगा। मैंने एशिया कप में इसे आजमाया।’

सलामी बल्लेबाज के रूप में कोहली के शतक ने यह चर्चा शुरू कर दी है कि क्या उन्हें रोहित के साथ पारी का आगाज करना चाहिए लेकिन इन दोनों शीर्ष खिलाड़ियों का मत था कि राहुल टीम के लिए बेहद महत्वपूर्ण है और उनका बचाव करने की जरूरत है।

कोहली ने कहा,‘हमें राहुल की पारी को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए क्योंकि विश्वकप से पहले सही मनोदशा में रहना बेहद महत्वपूर्ण है। हम सभी जानते हैं कि वह क्या कर सकता है। वह बहुत अच्छे शॉट खेलता है और जब वह अच्छा प्रदर्शन करता है तो हमारी टीम अधिक मजबूत नजर आती है।’

Virat Kohli Century: पत्नी और बेटी को दिया श्रेय, टीम ने की मदद… 1020 दिन बाद शतक लगाने के बाद क्या-क्या बोले विराट कोहलीKL Rahul press conference: …तो क्या मैं खुद बैठ जाऊं, केएल राहुल भड़क गए, सीधे सवाल का उल्टा जवाब दे दियाVirat Kohli Asia Cup: चेहरे पर कातिल मुस्कान, उग्र नहीं अब कूल अंदाज… क्या बदल रहे हैं विराट कोहली?

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.